shoutlyrics.com

In our website, we have some of the latest hindi song lyrics and WhatsApp Status of Latest New Song Lyrics.

इश्क़ सच्चा वही …जिसको मिलती नहीं मंज़िलें मंज़िलें …

ये दुआ है मेरी रब से तुझे आशिकों में सबसे मेरी आशिकी पसंद आयेl

मेरी थी जो खामियां ,तुझसे पूरी हुई …बाक़ी हुवे बेवजह ,तू ज़रूरी हुई …

फ़िलहाल तो यूँ हैं कि कुछ कर नहीं सकते तेरे बिन ही मरना होगा, साथ मर नहीं सकते

रूठी रूठी सारी रातें फीके फीके सारे दिन वीरानी सी वीरानी है तन्हाई सी तन्हाई है

तुम्हारी तस्वीर के सहारे मौसम कई गुज़ारे मौसमी ना समझो पर इश्क को हमारे

फिर क्यूँ तेरी यादों ने मुझे रुला दिया ओ मुझे रुला दिया..

धुप आए तो छाँव तुम लाना ख़्वाहिशों की बारिशों में भीग संग जाना

नज़रों से ना करना तुम बयां वो जिससे इनकार नहीं माना के हम यार नहीं..

तुम एक मुसाफ़िर हो मैं कोई राह अनजानी मन चाहा मोड़ दे तो मेरे यार बात बन जानी

ये मोह मोह के धागे तेरी उँगलियों से जा उलझे

तुझमें रब दिखता है, यारा में क्या करू, सज़दे सर जुकता है, यारा में क्या करू.

किसे पुछूँ ? है ऐसा क्यों ?…बेजुबान सा ये जहां है ..

तू छूट कर, क्यों छूटा नहीं ,कुछ तो जुदा है अभी ,मैं टूट कर, क्यों टूटा नहीं 

वक़्त भी ठहरा है, कैसे क्यूँ ये हुआ काश तू ऐसे आये, जैसे कोई दुआ

हमें मार ही ना डाले बुरी नज़र ये लोगों की ये हाथ छुडायेंगे ना हाथ पकड़ने देगी

तू पसन्द है किसी और की तुझे मांगता कोई और है तू प्यार है किसी और का तुझे चाहता कोई और है

जब तक जहान में सुबह शाम है तब तक मेरे नाम तू जब तक जहान में मेरा नाम है तब तक मेरे नाम तू

नाम-ए-वफ़ा मतलब के लिए अब लेते हैं क्यों सभी

मैं तुझसे ही छुप छुप कर तेरी आँखें पढ़ती हूँ कौन तुझे यूं प्यार करेगा जैसे मैं करती हूँ हो हो..

तू चाहिए, तू चाहिए शाम-ओ-सुबह तू चाहिए तू चाहिए, तू चाहिए हर मर्तबा तू चाहिए

कोई दर्द रहा ना दिल में ना कोई खरा हर ख्वाहिश पूरी हुई है तुझे पा जो लिया

कोई दर्द रहा ना दिल में ना कोई खरा हर ख्वाहिश पूरी हुई है तुझे पा जो लिया

क्या तूने अब भी रखे हैं प्रेम के वो सन्देश पत्थर बांध के छत पर तेरी देता था जो फैंक

Teri aankhon mein dikhta jo pyaar mujhe Meri aankhon mein bhi tujhe dikhta hai kya?

मैं तेनु समझावां की…ना तेरे बिना लागदा जी…

हाथों से खेलते होंगे या पैरों से फुर्सत कहाँ अब उनको है गैरों से

अजब है इश्क यारा पल दो पल की खुशियाँ गम के खजाने मिलते हैं मिलती है तन्हाईयाँ

भले दूरी रहे जीतनी निगाहों से निगाहों की मगर ख्वाबों की दुनियां में मिलूँगा तुमसे रोजाना

जहाँ भी याद तेरी आएगी वहीं पे बैठ के रो दूंगा जैसा भी हूँ जी लूँगा जैसा भी हूँ जी लूँगा

हमसफ़र हमराज़ तू जिस्म मैं और सांस तू रहना मेरे पास तू यूँ सदा..

चार दिनों का प्यार हो रब्बा बड़ी लम्बी जुदाई, लम्बी जुदाई

एक तू है दौलत है मेरी हासिल तू मेरा कितनी है मोहब्बत तुझसे बेहिसाब वाफ़ा

इस दर्द-ए-दिल कि सिफारिश अब कर दे कोई यहाँ कि मिल जाए इसे वो बारिश जो भीगा दे पूरी तरह

तेरी चाहतों में कितना तड़पे हैं सावन भी कितने तुझ बिन बरसे हैं ज़िन्दगी है मेरी सारी जो भी कमी थी तेरे आ जाने से अब नहीं रही

धीरे धीरे से मेरी ज़िन्दगी में आना, धीरे धीरे से दिल को चुराना, तुमसे प्यार हमे है कितना जाने जाना, ये मिलकर है तुमको बताना.

ज़ब कोई बात बिगड़ जाए, जब कोई मुश्किल पड़ जाए, तुम देना साथ मेरा, ओ हमनवाज़.

क्यों आजकल नींद कम ख्वाब ज्यादा है लगता खुदा का कोई नेक इरादा है, क्या मुझे प्यार है.