Tum Aankhon Se Batana Lyrics

Tum Aankhon Se Batana Lyrics In Hindi and English. The Latest Hindi Song is Sung by Dikshant. And Music Lyrics is written by Dikshant. And Song Composed by Dikshant.

Tum Aankhon Se Batana Lyrics

Tum aankhon se batana
Hum samajh jaayenge
Tum halki si sharmana
Hum tere ho jaayenge

Tum aankhon se batana
Hum samajh jaayenge
Tum halki si sharmana
Hum tere ho jaayenge

Hum raah taake baithey hai koi ijazat do
Hum raah taake baithey hai koi ijazat do
Tum haath thaam lena
Hum sawar jaayenge

Tum aankhon se batana
Hum samajh jaayenge
Tum halki si sharmana
Hum tere ho jaayenge

Tumhari mehendi mein
Chhupe hum rahe
Baatein karna humse
Bin kuch tum kahe

Tumhari mehendi mein
Chhupe hum rahe
Baatein karna humse
Bin kuch tum kahe

Hum khamoshi padhlenge
Agar chup tum raho
Hum khamoshi padhlenge
Agar chup tum raho

Tum aadat bano humari
Hum bigad jaayenge
Tum aankhon se batana
Hum samajh jaayenge
Tum halki si sharmana
Hum tere ho jaayenge

Yaar mere pyaar ka matlab
Samajhta nahi zamaana
Zamaane ki fikar nahi
Main chahoon tumhein samjhana

Ho ik meri khwaish yahin
Ke tum mein hai bass jaana
Ho jitni bhi muradein teri
Main pure sab kar jaana

Kaagazon par sabne
Apne lafz likhe
Humne apne jazbaat bhi sajaa ke hai rakhe
Kaagazon par sabne
Apne lafz likhe
Humne apne jazbaat bhi sajaa ke hai rakhe

Tum ankhon mein dekho humari
Sab samajh jaaoge
Tum aankhon se batana
Hum samajh jaayenge
Tum halki si sharmana
Hum tere ho jaayenge

Tum aankhon se batana
Hum samajh jaayenge
Tum halki si sharmana
Hum tere ho jaayenge

Aankhon Se Batana Lyrics In Hindi

तुम आँखों से बताना
हम समझ जाएंगे
तुम हलकी सी शर्माना
हम तेरे हो जाएंगे

तुम आँखों से बताना
हम समझ जाएंगे
तुम हलकी सी शर्माना
हम तेरे हो जाएंगे

हम राह तके बैठे है कोई इजाज़त दो
हम राह तके बैठे है कोई इजाज़त दो
तुम हाथ थाम लेना
हम सवर जाएंगे

तुम आँखों से बताना
हम समझ जाएंगे
तुम हलकी सी शर्माना
हम तेरे हो जाएंगे

तुम्हारी मेहँदी में
छुपे हम रहे
बातें करना हमसे
बिन कुछ तुम कहे

तुम्हारी मेहँदी में
छुपे हम रहे
बातें करना हमसे
बिन कुछ तुम कहे

हम ख़ामोशी पढ़लेंगे
अगर चुप तुम रहो
हम ख़ामोशी पढ़लेंगे
अगर चुप तुम रहो

तुम आदत बनो हमारी
हम बिगड़ जाएंगे
तुम आँखों से बताना
हम समझ जाएंगे
तुम हलकी सी शर्माना
हम तेरे हो जाएंगे

यार मेरे प्यार का मतलब
समझता नहीं ज़माना
ज़माने की फ़िक्र नहीं
मैं चाहूँ तुम्हें समझाना

हो इक मेरी ख्वाइश यहीं
के तुम में है बस जाना
हो जितनी भी मुरादें तेरी
मैं पुरे सब कर जाना

कागज़ों पर सबने
अपने लफ्ज़ लिखे
हमने अपने जज़्बात भी
सजा के है रखे

कागज़ों पर सबने
अपने लफ्ज़ लिखे
हमने अपने जज़्बात भी
सजा के है रखे

तुम आँखों में देखना हमारी
सब समझ जाओगे
तुम आँखों से बताना
हम समझ जाएंगे
तुम हलकी सी शर्माना
हम तेरे हो जाएंगे

तुम आँखों से बताना
हम समझ जाएंगे
तुम हलकी सी शर्माना
हम तेरे हो जाएंगे

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *